admin

कोणार्क के सूर्य मंदिर को यूनेस्को ने 1984 में विश्व धरोहर स्थल के रूप में मान्यता दी है।

कोणार्क के सूर्य मंदिर को यूनेस्को ने 1984 में विश्व धरोहर स्थल के रूप में मान्यता दी है।

कोणार्क सूर्य मंदिर, ओडिशा, भारत के तट पर पुरी से लगभग 35 किलोमीटर उत्तर पूर्व में कोणार्क में 13 वीं शताब्दी का सूर्य मंदिर है। मंदिर को 1250 ईस्वी पूर्व के पूर्वी गंगा राजवंश के राजा नरसिंह देव प्रथम के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है। […]

सास बहू का अदभुत मंदिर

सास बहू का मंदिर, ग्वालियर

ग्वालियर किले के पूर्व में स्थित सास-बहू मंदिर देखने में जितना सुंदर है इसकी गाथा भी उतनी ही अद्भुत है। मंदिर के बनने के पीछे की कहानी वर्ष 1092 ईस्वी में शुरू हुई थी। कहा जाता है कि इस मंदिर को देखना स्वर्ग के देवी-देवताओं […]

अंगकोर वाट- एक ऐसा मंदिर जो दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक स्मारक है

अंगकोर वाट- एक ऐसा मंदिर जो दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक स्मारक है

अंगकोर वाट के महान विष्णु मंदिर का निर्माण खमेर सम्राट सूर्यवर्मन द्वितीय ने करवाया था, जिन्होंने 1313-50 ई। के दौरान शासन किया था। यह मंदिर 879-1191 ईस्वी से निर्मित कई मंदिरों में से एक था, जब खमेर सभ्यता अपनी शक्ति की ऊंचाई पर थी। विष्णु […]

राम राम दो बार क्यों बोला जाता है ??

Ram Ram ji 2 bar q bolte h

राम राम दो बार क्यों बोला जाता है ?? क्या कभी सोचा है कि बहुत से लोग जब एक दूसरे से मिलते हैं तो आपस में एक दूसरे को दो बार ” राम-राम” क्यों बुलाते हैं ? एक बार या तीन बार क्यों नहीं बोलते […]

4 वीं शताब्दी की वाद्ययंत्रों का चित्रण

4 वीं शताब्दी की वाद्ययंत्रों का चित्रण

पद्मावती की प्राचीन नगरी पवाया से वाद्ययंत्रों का चित्रण, जिसका विशद वर्णन भवभूति के प्रसिद्ध काव्य “मालतीमाधवम” में किया गया था।   दृश्य में शायद एक प्राचीन त्योहार को दर्शाया गया है।   पद्मावती नागाओं के गुप्त विजय से पहले 4 वीं शताब्दी की शुरुआत […]

सोमनाथ मन्दिर का वाणस्तम्भ

सोमनाथ मन्दिर का वाणस्तम्भ

सोमनाथ मन्दिर का वाणस्तम्भ इतिहास बड़ा चमत्कारी विषय हैं. इसको खोजते खोजते हमारा सामना ऐसे स्थिति से होता है कि हम आश्चर्य में पड जाते हैं. पहले हम स्वयं से पूछते हैं, यह कैसे संभव हैै..? डेढ़ हजार वर्ष पहले इतना उन्नत और अत्याधुनिक ज्ञान […]

15 हजार किलो सोने से बना महालक्ष्मी मंदिर

15 हजार किलो सोने से बना महालक्ष्मी मंदिर

15 हजार किलो सोने से बना है यह महालक्ष्मी मंदिर .     किन्तु उनके लिए भारत का इतिहास मुगलों से शुरू होकर, उन्ही पर समाप्त हो जाता है .. इसीलिए वामपंथी सेकुलर पिल्लों ने कभी आपको ऐसे मंदिरों के विषय मे नहीं बताया.. उनके […]

मंदिर का घंटा क्यों बजाते हैं

मंदिर का घंटा क्यों बजाते हैं

मंदिर का घंटा स्टेटिक डिस्चार्ज यंत्र किसी भी मंदिर में प्रवेश करते समय आरम्भ में ही एक बड़ा घंटा बंधा होता है. मंदिर में प्रवेश करने वाला प्रत्येक भक्त पहले घंटानाद करता है और फिर मंदिर में प्रवेश करता है.   क्या कारण है इसके […]

राजा वीर विक्रमादित्य

राजा वीर विक्रमादित्य

कौन थे राजा वीर विक्रमादित्य….. ???? बड़े ही शर्म की बात है कि महाराज विक्रमादित्य के बारे में देश को लगभग शून्य बराबर ज्ञान है, जिन्होंने भारत को सोने की चिड़िया बनाया था, और स्वर्णिम काल लाया था | उज्जैन के राजा थे गन्धर्वसैन , […]

AM और PM का वास्तविक मतलब क्या होता है।

AM और PM का वास्तविक मतलब क्या होता है।

*AM और PM* हमे बचपन से ये रटवाया गया, विश्वास दिलवाया गया कि इन दो शब्दो *A.M. और P.M.* का मतलब होता है। *A.M. : एंटी मेरिडियन (ante meridian)* *P.M. : पोस्ट मेरिडियन (post meridian)* *एंटी यानि पहले, लेकिन किसके ?* *और पोस्ट यानि बाद […]